पुलिस को धक्के, बैरिकेट्स तोड़े - Shimla Times

Breaking

Tuesday, July 25, 2017

पुलिस को धक्के, बैरिकेट्स तोड़े

newsशिमला  —  कोटखाई छात्रा गैंगरेप व हत्याकांड प्रकरण में छात्रा को जल्द न्याय दिलाने की मांग को लेकर सोमवार को शिमला में फिर से जनता सड़कों पर उतर आई। छात्रा न्याय मंच के बैनर तले विभिन्न संगठनों के लोगों ने उपायुक्त कार्यालय से सचिवालय तक विशाल मार्च किया। सचिवालय पहुंच कर लोगों (भीड़) ने राज्य सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया।  विशाल मार्च दोपहर 1:20 बजे सचिवालय के समीप पहुंचा। भीड़ को देखते हुए पुलिस ने सचिवालय गेट के समक्ष बैरिकेट्स लगा रिए और गेट को बंद कर दिया। जिससे देखकर भीड़ और गुस्सा गई। गुस्साई भीड़ ने पहले जहां बैरिकेट्स तोड़े, पुलिस जवानों के साथ धक्का-मुक्की की। वही, भीड़ ने गेट को खोलने और गेट के ऊपर से सचिवालय परिसर में घुसने का प्रयास किया। हालांकि पुलिस ने भीड़ को गेट के भीतर प्रवेश नहीं करने दिया, मगर भीड़ ने गेट के समक्ष राज्य सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। गुस्साई भीड़ ने घंटों तक नारेबाजी कर पुलिस प्रशासन व सरकार के विरुद्ध अपना गुबार निकाला। इस दौरान विभिन्न संगठनों के लोगों ने भीड़ को संबोधित भी किया। हर वक्ता ने अपने संबोधन में सरकार व पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवालिया प्रश्न उठाए और बिटिया को न्याय दिलवाने के लिए निष्पक्ष जांच की मांग कर दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग उठाई। प्रदर्शन स्थल पर एसपी शिमला उपायुक्त सहित काफी संख्या में बल तैनात रहा।

गेट पर चढ़कर नारेबाजी

newsशिमला –  गुस्साई भीड़ में से कुछ लोगों ने गेट पर चढ़कर सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उक्त प्रकरण में सरकार व पुलिस प्रशासन की नाकामी पर जनता ने भारी आक्रोश दिखाया। भीड़ ने छात्रा को शीघ्र न्याय दिलाने की मांग उठाई।

घंटों ठप रही वाहनों की आवाजाही

विशाल मार्च के दौरान छोटा शिमला से घंटों वाहनों की आवाजाही ठप रही। पुलिस ने प्रदर्शन के चलते सचिवालय के दोनों तरफ गेट बंद कर दिए थे। प्रदर्शन के खत्म होने तक गेट बंद रहे हैं।

बारिश में भी दिखा लोगों में जोश

शिमला में दोपहर बाद झमाझम बारिश हुई। उपायुक्त कार्यालय से विशाल मार्च के शुरू होते ही बूंदाबांदी आरंभ हो गई थी, मगर झमाझम बारिश में भी लोगों का जोश कम नहीं हुआ। बारिश में भीगते हुए भी लोग सचिवालय परिसर तक पहुंची।

 राजनीति न कर, किया जाए न्याय

बिटिया की बहनों ने उक्त प्रकरण के निष्पक्ष जांच की मांग उठाई है। इस प्रकरण में राजनीति न कर मासूम छात्रा को शीघ्र न्याय दिलाया जाए। प्रदर्शन के दौरान बिटिया के परिजनों की आंखों से आंसू भी छलक आए।

न्याय नहीं मिला ,तो काम का बहिष्कार

शिमला विशाल मार्च में नेपाली एकता मंच के लोगों ने भी भाग लिया। नेपाली एकता मंच के पदाधिकारी ने भी पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाते हुए इस प्रकरण में निष्पक्ष जांच की मांग उठाई, ताकि असली दोषी सामने आ सके। नेपाली एकता मंच ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही मुख्य आरोपी नहीं पकड़े जाते है, तो जिला में नेपाली मूल के लोग कार्य का बहिष्कार कर देंगे।

न्याय मिलने तक जारी रहेगा आक्रोश

छात्रा न्याय मंच ने चेतावनी दी है कि छात्रा को न्याय न मिलने तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेंगे। उन्होंने सरकार व पुलिस प्रशासन को चेताया है कि अगर छात्रा को जल्द न्याय नहीं दिलाया जाता है, तो आगामी दिनों में भी उग्र प्रदर्शन किए जाएंगे।

सचिवालय के बाहर कर्फ्यू जैसा माहौल

सोमवार को सचिवालय के बाहर कर्फ्यू जैसा माहौल रहा। सचिवालय के दोनों तरफ के गेट बंद रहे और गेट के बाहर भी बैरिगेट्स लगाए गए थे। भीड़ पर काबू पाने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !


^पूरी खबर पढ़े: source - DivyaHimachal

No comments:

Post a Comment