पंचायत प्रधानों को मोदी की चिट्ठी - Shimla Times

Saturday, June 15, 2019

पंचायत प्रधानों को मोदी की चिट्ठी

प्रधानमंत्री ने सरपंचों से बरसात में जल संग्रहण का किया आग्रह

 शिमला —प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल के पंचायत प्रधानों को बरसात के पानी के संग्रहण के लिए आग्रह पत्र भेजा है। प्रधानमंत्री ने प्रदेश के सरपंचों को संबोधित करते हुए इस पत्र के संदेश को हर हिमाचलवासी तक पहुंचाने की अपील की है। इसके लिए हिमाचल सरकार ने 22 जून को प्रदेशभर में ग्राम सभाओं के आयोजन का निर्णय लिया है। इसके तहत ग्रामीण विकास विभाग ने सभी उपायुक्तों को आदेश जारी किए हैं कि प्रधानमंत्री का पत्र हर सूरत पंचायत प्रधानों तक 20 जून तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। इस आधार पर पंचायत प्रधान अगले शनिवार को प्रस्तावित ग्रामसभा की बैठक में प्रधानमंत्री के पत्र को पढ़कर सुनाएंगे। हिमाचल प्रदेश की समस्त 3226 ग्राम सभाओं में 22 जून को आगामी वर्षाऋतु में जल संग्रहण तथा संरक्षण विषय पर विचार विमर्श की एक कारगर योजना को तैयार करने हेतु विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा। इस संबंध में सभी जिलाधीशों को विभाग द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए। मोदी द्वारा प्रदेश के सभी प्रधानों को आगामी वर्षाऋतु के दौरान वर्षा जल संग्रहण तथा संरक्षण हेतु विस्तृत पत्र लिखा गया है, जिसको ग्राम सभा की उक्त बैठकों में पढ़ा जाएगा। सभी उपायुक्तों को भी इस बारे में आवश्यक कदम उठाने हेतु दिशा-निर्देश दिए गए हैं। प्रधान मंत्री ने इस विषय पर ग्राम सभाओं का आयोजन करने के लिए सभी प्रधानों का आह्वान  किया है तथा इसे एक जन आंदोलन का रूप देने को कहा है। सभी पंचायतों को वर्षा ऋतु के दौरान खेतों में मेढ़बंदी, नदियों और धाराओं में चैकडैम निर्माण और तटबंदी, तालाबों की खुदाई एवं सफाई, वृक्षारोपण, वर्षा जल के संचयन, जलाशयों आदि का बड़ी संख्या में निर्माण करने का आग्रह किया गया है ताकि खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में सिंचित किया जा सके।  

The post पंचायत प्रधानों को मोदी की चिट्ठी appeared first on Divya Himachal: No. 1 in Himachal news - News - Hindi news - Himachal news - latest Himachal news.


Courtsey: Divya Himachal
Read full story: https://www.divyahimachal.com/2019/06/%e0%a4%aa%e0%a4%82%e0%a4%9a%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%a4-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%a7%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%ae%e0%a5%8b%e0%a4%a6%e0%a5%80-%e0%a4%95/

No comments:

Post a Comment